Home » तेल प्रवाह प्रयोगशाला
Print This Page     Email This Page

तेल प्रवाह प्रयोगशाला

  • तेल प्रवाह प्रयोगशाला का विधिवत शुभारंभ 1995 हुआ था। मुख्य प्रवाह माध्यम EXXSOL D 80 हैं और 650 m3/hr अधिकतम प्रवाह वेग प्राप्त किया जा सकता है। इसमें प्रयुक्त प्रवाह माध्यम उड्डयन टरबाइन ईंधन के समतुल्य है।

     

    एनएबीएल (राष्ट्रीय परीक्षण एवं अंशाकन प्रयोगशालाएं प्रमाणन बोर्ड) ने ओएफएल को परीक्षण तथा अंशाकन दोनों ही वर्गों के लिए मान्यता प्रदान की है। इसके साथ ही विधिक मापन विधियाँ, भार एवं मापन इकाई, ग्राहक मामले विभाग ने प्रवाह मापन तथा आयतन मापन उपकरणों पर मानक अनुमोदन परीक्षण हेतु प्रयोगशाला को मान्यता प्रदान की है।

    OFL1प्रयोगशाला में संकार्यात्मक सुविधाएं

    निम्न दबाव सुविधाएं

    माध्यम : Exxsol D80
    दबाव : 3 bar
    प्रवाह : 650 m3/hr

    भार में मापन अनिश्चितता 0.025 % है, आयतन में 0.04 % और आयतन प्रवाह दर में 0.075 % होती है।

    परीक्षण अनुभाग पाइपों का नामिनल अधिकतम आकार 250 mm (10”) NB तथा न्यूनतम as 6 mm NB आकार पर काम कर सकता है। प्रवाह का माध्यम 2.06 सेंटीस्ट्रोक्स के गतिज गाढ़ेपन के साथ, 250 सेंटीग्रेड तथा 0.78 आपेक्षिक घनत्व पर EXXSOL D80 होता है। द्रव EXXSOL D80 डीयरोमैटाइज्ड हाइड्रोकार्बन है जो कि एटीएफ के काफी कुछ समान होता है।

    प्रवाह मापन संकाय में वजन मापने के तीन प्लेटफार्म 1000 कि.ग्रा., 2000 कि. ग्रा. तथा 300 कि.ग्रा. के होते हैं। यह प्लेटफार्म ऑन-ऑफ वाल्वों से मिले संकेतों के आधार पर द्रव के एकत्रीकरण समय का निर्धारण करने में भी सक्षम है। घनत्व का निर्धारण ऑनलाइन घनत्वमीटर से किया जाता है।

    बहु-गाढ़ा परीक्षण छल्ला (मल्टीविस्कस टैस्ट लूप)

    एफसीआरआई में एक मल्टीविस्कस प्रवाह सुविधा उपलब्ध है जिसमें 10 बार अधिकतम दबाव 300एलपीएम अधिकतम प्रवाह के साथ Exxsol D 80, Hydrol 32, Hydrol 68, Hydrol 110, Hydrol 220, Hydrol 460 आदि माध्यम के रुप में कार्य करते हैं। भार 0.025 %, आयतन में 0.04 % एवं आयतन प्रवाह दर 0.075%. के साथ मापन में इतनी अनिश्चितता रहती है।

    उपर्युक्त विशिष्ट गाढ़ेपन के अतिरिक्त ग्राहक अपनी रुचि के किसी भी तरल पदार्थ का अंशाकन कर सकते हैं यदि वे 500 लीटर तरल पदार्थ की आपूर्ति कर सकें।

    अंशाकन पद्धति

    अंशाकन के लिए प्रवाह मीटरों को परीक्षण पंक्ति में एकत्रित किया जाता है, परीक्षण पंक्ति को तेल से ऊपर तक भर दिया जाता है और अंदर फंसी वायु को वायु बाहर निकाल दी जाती है। भारात्मक अंशाकन पद्धति में, एकत्रित किए गए तेल का कुल भार नोट किया जाएगा और वायु उत्प्लावनता संशोधन किया जाता है। इसके पश्चात् उस ताप पर घनत्व को लेकर आयतन की गणना की जाती है तथा मीटर द्वारा इंगित रीडिंग/आउटपुट के साथ उसकी तुलना की जाती है।

  • अंशाकन/परीक्षण

    कस्टडी हस्तांतरण के लिए इस्तेमाल किया फ्लो मीटर तेल प्रयोगशाला में अंशाकित किए जाते हैं। अंशांकन विधि में विभिन्न प्रवाह दरों, प्रवाह मीटर का आवश्यक होने पर त्रुटिसुधार करना, प्रवाह मीटर की चेकिंग तथा विभिन्न प्रवाह दरों के लिए अंशाकन को पुनः करना, विशेष तौर पर ग्राहक की आवश्यकता के आधार पर भी शामिल है। परीक्षण किया अधिकतम प्रवाह मीटर आकार 10 “ NB अंशाकित किया जा सकता हैऔर न्यूनतम आकार ¼” एनबी अंशाकित किया जा सकता है। ग्राहक अपने प्रतिनिधियों को अंशाकन/परीक्षण देखने के लिए भेज सकते हैं।

    मानक अनुमोदन परीक्षण (माडल एप्रूवल टैस्टिंग)

    पैटर्न अनुमोदन / मॉडल अनुमोदन उपकरणों को मापने के लिए एक अनिवार्य आवश्यकता है जिसके लिए वाणिज्यिक या गुणवत्ता निहितार्थ तस्वीर में आ रहा है। उपकरण के लिए अनुमोदन निदेशक, विधिक मापन विधि से लेना होता है। निदेशक मापन विधि ने एफसीआरआई को प्रवाह मीटर पर इस प्रकार के पैट्रन अनुमोदन के लिए मान्यता दी है। निदेशक, विधिक मापन विधि के कार्यालय से रिफर किए गए मामले एफसीआरआई में OIML R 105- “ डायरेक्ट मास फ्लो मेजरिगं सिस्टम्स”/ OIML R 117 “ मेजरिंग सिस्टम्स फार लिक्विड अदर दैन वाटर” के अनुसार पैट्रन अनुमोदन परीक्षण से गुजारे जाते हें। परीक्षण रिपोर्ट आगे की कार्रवाई के लिए उन्हें भेज दी जाती है। एफसीआरआई अनेक प्रवाह मीटरों जैसे कि मास फ्लो मीटर, पाजिटिव डिसप्लेसमैंट मीटर आदि पर माडल एप्रूवल टैस्टिंग कर रही है। संपूर्ण परीक्षण में फ्लो मीटर/इंडीकेटर पर 115 परीक्षण शामिल हैं और इसके पूरे होने में लगभग 3 महीने का समय लग जाता है।

    स्तर मापन

    तेल प्रवाह लेबोरेटरी में कस्टडी स्थानांतरण पैमाइश उपकरणों के मूल्यांकन के परीक्षण के हिस्से के रूप में, एफसीआरआई ने डिजाइन बनाए, गढ़े, और एक कस्टम टेस्ट रिग पुष्टि तीन मीटर दूरी तक का स्तर सेंसर / जांच के निष्पादन मूल्यांकन के लिए की है। जांच खुदरा आउटलैट में भंडारण टैंक में स्तर की माप के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। यह कार्य मैसर्स वीडर रुट संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए किया गया है।

    प्रयोग का उद्देश्य जांच की सटीकता के स्तर को निर्धारित करने के लिए किया गया था एवं ताप मापन नियंत्रित परिस्थितियों मे था। यह जांच एक पारदर्शी पाइप में स्थापित की गई तथा आवश्यक ऊंचाई पर रखी गई थी। सबसे निचला भाग डैटूम की भांति प्रयोग किया गया था। एक नापने वाला पैमाना (रिजोल्यूशन-0.1एमएम) पाइप के साथ, जिससे स्तर मापा जा सके वर्नियर से संबद्ध था। पाइप के पाद के पास एक आरटीडी मिलाकर रखी गई थी जो ताप संवेदक के काफी नजदीक थी जिससे ताप के उतार-चढ़ाव के कारण होने

    वाली त्रुटि को न्यूनतम किया जा सके। यह जांच 100 एमएम व्यास के पारदर्शी पाइप में ऊर्ध्व स्थापित की गई थी। सबसे निचला भाग डैटूम की भांति प्रयोग किया गया था। एक नापने वाला पैमाना (रिजोल्यूशन-0.1एमएम) पाइप के साथ, जिससे स्तर मापा जा सके वर्नियर से संबद्ध था।

    पाइप में अधिकतम रेंज का 10 % डीजल भरा गया था। भरने तथा खाली करने के दौरान प्रत्येक स्तर नापा गया था। पूरी तरह भरे होने की अवस्था में ही ताप मापा गया था। यही प्रक्रिया गैसोलीन के मामले में भी दोहराई गई थी। सभी 5 जांचों के लिए जल-तेल इंटरफेस की विभिन्न स्तर पर मापन पाइप में पेट्रोल/डीजलल की जांच की गई, 200 एमएम तक जल विभिन्न चरणों में भरा गया था। भरते तथा खाली करते समय जल इंटरफेस विभिन्न स्तरों पर नापा गया था।

    स्व एलपीजी वितरक के लिए अनुमोदन परीक्षण (ऑटो एलपीजी डिस्पेन्सर के लिए एप्रूवल टैस्ट)

    मैसर्स मिडको से प्राप्त की गई ऑटो एलपीजी डिस्पेंसर का पैट्रन अनुमोदन परीक्षण OIML R117 में की गई संतुतियों के अनुरुप पूरा किया गया। .

    OFL2

    मैसर्स मिडको लिमिटेड पुणे के ऑटो एलपीजी की मशीन, भी Exxsol D80 माध्यम के साथ परीक्षण किया गया था। यह परीक्षण मानक एन 14678-1-2006 (ई) -एलपीजी उपकरण और सहायक उपकरण तथा विनिर्माण एवं निष्पादन ऑटोमेटिव फिलिंग स्टेशनों के लिए एलपीजी उपकरणभाग -1 डिस्पेंसर के नियामनुकूल किया गया।

    संपन्न अन्य परीक्षण /क्रियाकलाप

    आंतरिक होस आयतन में उतार-चढ़ाव का परीक्षण एलपीजी की नली पर बीएस ईएन 26801-1993 / आईएसओ 6801-1993, रबड़ और प्लास्टिक (होसेस)बड़ा पाइप के – होसेस का आयतनिक विस्तार का निर्धारण के अनुसार किया गया।

    OFL3

    के लिए एफएसओ एंडिएवोर जहाज का भौतिक सत्यापन और पाइप प्रोवर और पैमाइश स्किड के निरीक्षण के लिए दौरा किया गया। निष्कर्षों पर विस्तृत रिपोर्ट ग्राहक को दी गई।.

    OFL4

    जहाज एफएसओ एंडिएवोर में एक दिशात्मक 20 पाइप प्रोवर की संतुति एपीआई के रुप में की गई थी। यह कार्य मैसर्स नॉर्टन्स मैरीटाइम सर्विसेज, मुंबई के माध्यम से कराया गया था। तीन 25 एमएम टरबाइन फ्लो मीटर के समानांतर जोड़े गए पाइपों के साथ 20”पाईप मीटरिंग स्किड के संयोजन से बनती है। पाइप प्रोवर का अंशाकन मास्टर मीटर विधि जैसा कि एपीआई में संतुति की गई है, के आधार पर किया गया था। यह प्रोविंग दो प्रवाह दरों पर की गई। प्रत्येक प्रवाह दर पर पाँच निरंतर मापन दोहराव की गणना के लिए किए गए। माप का दोहराव 0.02% के भीतर था और प्रोवर एपीआई सिफारिशों के अनुसार स्वीकार्य था। पाइप प्रोवर का आधारीय आयतन स्थापित करने के बाद, तीन मीटरिंग स्किड्स में टरबाइन प्रवाह मीटर पाइप प्रोवर के विरुद्ध प्रूव्ड किए गए।

  • क्रूड मीटरिंग स्किड्स का प्रमाणीकरण

    दो बड़ी रिफायनरियों में जल खींचना प्रणाली द्वारा अंशाकित किया गया 900 एमएम द्विदिशात्मक पाइप प्रोवर विटनेस किया गया तथा एप्रूव किया गया।

    OFL5

    OFL6

    यह प्रोविंग दो प्रवाह दरों पर की गई। प्रत्येक प्रवाह दर पर पाँच निरंतर मापन दोहराव की गणना के लिए किए गए। माप का दोहराव 0.02% के भीतर था और प्रोवर एपीआई सिफारिशों के अनुसार स्वीकार्य था।

    प्रोवर्स का आधारीय आयतन स्थापित करने के बाद साइट्स पर स्किड क्रूड मीटरिंग भी प्रमाणित कर दी गईं। मीटिरिंग स्किड में तीन की संख्या में पांच पाथ अल्ट्रासोनिक फ्लो मीटर होते हैं। पाइप प्रोवर के विरुद्ध अल्ट्रासोनिक फ्लो मीटरों की लीनिएरिटी एवं दोहराव स्थापित किए गए एवं परिणामों को एपीआई के अनुरुप प्रमाणित किया गया।

    OFL7
    तटीय इलाके में मीटरिंग प्रणाली का लेखा परीक्षण एवं समस्या निदान

    अपतटीय में एक जलाशय जहाज ने प्रवाह पैमाइश प्रणाली ऑडिट करने के लिए और मीटर, साबित बैच रिपोर्ट में शामिल मुद्दों और निर्यात मात्रा के आकलन का विश्लेषण करने के लिए दौरा किया था। अलग-अलग समस्याओं अलगाव में संबोधित की गईँ और फिर एक एकीकृत उत्पाद के रूप में समस्याओं का निवारण, सिस्टम सही करने के लिए किया गया। ऑपरेटिंग कर्मचारियों के साथ गहन विचार विमर्श के बाद स्थिति को सही करने के लिए उपयुक्त सिफारिशें की गईं।

    OFL8

    एक बहुराष्ट्रीय ठेका कंपनी के लिए एलपीजी और नाफ्था के लिए कस्टडी स्थानांतरण पैमाइश स्टेशन के डिजाइन सत्यापन

    एक बहु राष्ट्रीय कंपनी के साथ नेप्था एवं एलपीजी के लिए प्रोविंग सिस्टम सहित स्किड माउंटड कस्टडी स्थानांतरण मीटरिंग के प्रमाणीकरण तथा डिजाइन का अनुमोदन एक बहुराष्ट्रीय कंपनी के लिए किया गया है। इस कार्य में पी एंड आईडी आरेख, पैमाइश स्किड की आइसोमैट्रक चित्र, उपकरणों आदि के विनिर्देश के अनुमोदन शामिल हैं। इसके लिए स्वीकार्य अंतरराष्ट्रीय मानकों / कोड (एपीआई, एएनएसआई / ASME धारा आठवीं, एपीआई / आरपी 526, ASME B16.5 ASME बी 31.3 परिषद के अनुसार अनुच्छेद 500) का पालन किया गया है।

    स्वयं ट्रक भरने की प्रणाली (ऑटोमेटेड ट्रक लोडिंग सिस्टम्स)

    बल्क मार्केटिंग स्टोरेज सुविधाओं का कार्य जिसे ड्रिस्ट्रीब्यूशन टर्मिनल्स कहा जाता है भंडारण से ट्रकों (साथ ही रेलकारों. बैरजस, पाइपलाइन)तक तरल पदार्थों के वितरण में सहायता करना है। संरक्षा, सुरक्षा, मापन सटीकता, नियामकता तथा रिपोर्टिगं आवश्यकताएं लोडिंग टर्मिनल्स के आटोमेशन में मुख्य ड्राइविंग फोर्स होते हैं।

    नियमों और स्वच्छ ईंधन के कारण यह वर्षों से उत्पादों का मिश्रण करना आवश्यक हो गया है जैसे कि मिड ग्रेड फ्यूल। जहां एडिटिव की लघु प्रतिशत अनिवार्य होजाती है वहां ईँधन में जोड़ना होता है। टर्मिनल क्षमता तथा लागत के लिए यह आवश्यक बना दिया कि उत्पादों के मिश्रण की तकनीक निकाली जाएं और यह काम टैंक स्टोंर में करने के स्थान पर लोडिंग रैक पर किया जाए। इसके अलावा यह भौतिक रूप से लोड के अंत में डिब्बे में एडिटव के जोड़ने के लिए विरोध के रूप में उत्पाद धारा में एडिटिव के इंजेक्षन करने के लिए और अधिक मतलब होगा। टर्मिनलों में एक एकीकृत सम्मिश्रण और एडिटाइजिंग नियंत्रण प्रणाली की दक्षता को साकार करने के लिए न केवल आवश्यक हो गया बल्कि लेकिन यह भी विन्यास है और अनुपात सम्मिश्रण करने के लिए अनुकूलित कर सकते हैं, एडिटिव के प्रतिशत के समायोजन और स्पेजेस पर प्राप्त करने के लिए सही मिश्रण है कि परिवर्तन एक प्रणाली है। ऐसे टैंक का स्तर और सूची के रूप में मॉड्यूल के एकीकरण, टर्मिनल और लदान गैन्ट्री पहुँच सुरक्षित अंतिम उत्पाद वितरण के लिए होता है।

    पेट्रोल जैसे सम्मिश्रण उत्पादों के मिश्रण तैयार करने के रूप में चर प्रतिशत के साथ डीजल और ईंधन तेल के विभिन्न वाणिज्यिक और औद्योगिक जरूरतों को पूरा करने के लिए पेट्रोल तैयार करने के लिए एक आम जगह बन गए हैं। विदेशी तेल पर कच्चे तेल की कीमतों और निर्भरता में वृद्धि के कारण हाल के वर्षों में इथेनॉल सम्मिश्रण आम होता जा रहा है। इथेनॉल मक्का और सोयाबीन के बंद का उत्पादन किया और कुल मिलाकर पेट्रोल सामग्री को कम कर देता है। उत्पादों में इथेनॉल के 10% मिश्रण पेट्रोल पंपों पर आम प्रचलन होता जा रहा है।

    टर्मिनलों को बनाए रखने और संयुक्त उद्यम टर्मिनल के रूप में परिचालन की लागत में वृद्धि के कारण कई टर्मिनल ऑपरेटिंग कंपनियों टर्मिनलों को मजबूत कर रहे हैं और संयुक्त प्रतिष्ठान के रुप में चला रहे हैं। मांग के अनुरुप टर्मिनलों को सक्षम होना पड़ेगा तथा एक दिन में सिंगल 8 घंटे से ज्यादा की शिफ्ट और किन्हीं मामलों में 24×7 करनी होगी। आटोमेशन से बिना काम के घंटों में मानवरहित व्यवस्था भी संभव हो चुकी है।एक टर्मिनल के ऑटोमेशन में बहुत से स्टेंड अकेले उपकरण आवश्यक होते हैं। निम्नलिखित व्यापक सूची के अनुसार ये उपकरण एक टर्मिनल को चलाने के लिए आवश्यक होते हैं-

    • उत्पाद रसीद / मीटरिंग
    • कंट्रोल वाल्व उनके संबंधित टैंक में उत्पाद प्राप्तियों स्टोर करने के लिए
    • टैंक स्तर और माप उपकरण
    • आग हाइड्रेंट सिस्टम
    • सुरक्षा अभिगम
    • गैन्ट्री स्वचालन उपकरण जैसे झरनी, मीटर, प्रवाह नियंत्रण वाल्व, प्रीसैट
    • टर्मिनल प्रबंधन सॉफ्टवेयर
    टर्मिनल ऑटोमेशन के क्षेत्र हैं:
    टर्मिनल ऑटोमेशन के क्षेत्र हैं:
    • मीटरिंग और नियंत्रण
    • उत्पाद सम्मिश्रण
    • एडिटिव मीटरिंग
    • सुरक्षा एक्सेस (व्यापार अनुमोदक) और सुरक्षा बुनने बोल, लेनदेन प्रबंधन, लेखा परीक्षा निशान और एमआईएस रिपोर्टिंग
    इनमें से अधिकांश फंक्शन्स एवं गैंटरी लोडिंग का अधिकांश काम इलेक्ट्रोनक प्रीसैट करने में सक्षम है।

    मीटिरिंग एवं नियंत्रण
    प्राथमिक मीटरिंग अवयव का चुनाव मुख्यतः निर्भर करता है-
    • हैंडिल करने के लिए उत्पादों के प्रकार (चिपचिपापन, आदि लोडिंग,तापमान,)
    • फ्लो थ्रूपुट दर
    • सटीकता
    • बैच माप (भार या आयतनिक)
    • स्थानीय अनुमोदन

    पेट्रोलियम अनुप्रयोगों के बहुमत के लिए, इस तरह के सकारात्मक विस्थापन मीटर और टरबाइन मीटर के रूप में बड़ा पैमाइश उपकरणों आमतौर पर इस्तेमाल किया जाता है। बड़े पैमाने पर माप के लिए भार प्रवाह मीटर का इस्तेमाल किया जा रहा है।टैंक लोडिंग के लिए बैच कंट्रोलर का परीक्षण

    OFL9

    भार प्रवाह मीटर और डिजिटल नियंत्रण वाल्व के साथ बैच नियंत्रकों के लिए शुद्धता की जांच एक ओएमसी रिफाइनरी के लिए किया गया था। बैच कंट्रोलर का प्रयोग टैंक लोडिंग प्रणाली( कस्टडी स्थानांतरण अनुप्रयोग में) किया गया था।

    बैच कंट्रोलर के परीक्षण से पूर्व भार प्रवाह मीटर विभिन्न प्रवाह दरों पर अंशाकित किया गया था और प्राप्त सापेक्ष मीटर घटक बैच नियंत्रक में प्रोग्राम किए गए।

    प्रत्येक अलग प्रवाह दर पर अलग बैच मात्रा बैच नियंत्रक में प्रोग्राम था और प्रतिशत त्रुटि गणना की गई। बैच नियंत्रण वाल्व पूर्व निर्धारित बैचों के लिए “बंद” “ओपन” या करने के लिए बैच नियंत्रक से संकेत प्राप्त करता है। प्रणाली के माध्यम से पारित कर दिया तरल की वास्तविक मात्रा स्थिर भारात्मक पद्धति का उपयोग करके निर्धारित किया गया था ।

    पाइप प्रोवर अंशाकन का साक्ष्य प्रमाणन

    रिलायंस इंडस्ट्रीज के जामनगर में सात द्विपक्षीय दिशात्मक पाइप प्रोवर्स की अंशांकन साक्ष्य और प्रमाणित कई गई थी। प्रोवर्स मास्टर मीटर विधि द्वारा अंशाकित किए गए।

    OFL10

    मास्टर मीटर के मीटर कारक परिचालन की स्थिति में मास्टर prover के खिलाफ स्थापित किया गया था। इस के बाद परीक्षण प्रोवर मास्टर मीटर के खिलाफ प्रूव्ड कर दिया था। मास्टर मीटर की औसत मीटर कारक परीक्षण के अंतर्गत प्रोवर्स के आधार मात्रा निर्धारित करने के लिए इस्तेमाल किया गया था। प्रवर्स के दोहराव को दो अलग प्रवाह दरों पर स्थापित किया गया था। पांच मापनों का दोहराव प्रत्येक प्रवाह दर पर दोहराव गणना के लिए किया गया।

    OFL11

    प्रोवर्स के दोहराव 0.02% के भीतर था और प्रोवर्स एपीआई सिफारिशों के अनुसार के रूप में स्वीकार्य थे।

    सात प्रोवर्स पांच नंबर मोबाइल प्रोवर्स और दो तय प्रोवर्स शामिल हैं।

    एफसीआरआई-इंडिया और एनईएल-यूके के बीच अंतःतुलना

    स्थिर भारात्मक पद्धति पर आधारित प्रवाह माप मानकों इंटर तुलना में शामिल किया गया था। एक कोरिओलिस भार प्रवाह मीटर 3 ” का प्रयोग आचरण करने के लिए इस्तेमाल किया गया था। फ्लो मीटर मात्रा प्रवाह माप के लिए विन्यस्त किया गया था और मात्रा माप के लिए के-कारक उत्पादन के साथ तुलना में था। सहभागिता करने वाली प्रयोगशालाएं थीं-


    • तेल प्रवाह प्रयोगशाला, तरल पदार्थ नियंत्रण अनुसंधान संस्थान (एफसीआरआई), भारत
    • 100 मिमी पानी का प्रवाह प्रयोगशाला, तरल पदार्थ नियंत्रण अनुसंधान संस्थान (एफसीआरआई), भारत
    • टीयूवी नेल राष्ट्रीय तेल प्रवाह माप सुविधा, ब्रिटेन

    एन संख्या प्रवाह की दर पर माध्यक के-कारकों के लिए अनुमान लगाया गया था और यह ईए संख्याएं के अनुमान सभी मामलों में एक से कम थे। यह ईएन संख्या अनुमान इस धारणा के साथ किया गया था कि टीयूवी नेल राष्ट्रीय तेल प्रवाह माप सुविधा, ब्रिटेन संदर्भ स्रोत मानक के रुप में है और इसकी सिस्टेमिक अनिश्चितता न्यूनतम है।

    OFL12

    कोरियोलिस भार प्रवाह मीटर का के-घटक 3” NB 40 m3/h से 200 m3/h. विभिन्न प्रवाह दरों पर निर्धारित किया गया। एफसीआरआई में पहले तेल एवं जल में मापन किया गया तथा फिर यह एनईएल, यूके में समान प्रवाह दरों के लिए दोहराया गया। यह देखा गया कि ये दोनों काफी समान थे एवं एनईएल द्वारा रिपोर्ट की गई अनिश्चतता की सीमा के अंदर ही थे। एफसीआरआई में के-घटक का डेविएशन जब तेल प्रवाह प्रयोगशाला में लिया गया था और एनईएल में लिया गया था तो 0.002 % से 0.03 % पाया गया। इसीप्रकार 0.0 से 0.03 % तक के-घटक जल में अंशाकित करने पर पाया गया।
    चित्र

    OFL13

    ईएन संख्या (प्रदर्शन आँकड़ा “ई सब एन” संख्या के रूप में व्यक्त) भागीदार प्रयोगशाला के वर्गों का योग (आरएसएस) का वर्गमूल द्वारा एक भागीदार के परीक्षण के आंकड़ों और परीक्षण विरूपण साक्ष्य की सौंपे मूल्य के बीच अंतर को विभाजित करके प्राप्त होता है परीक्षण के आंकड़ों अनिश्चितता और संदर्भ प्रयोगशाला के परीक्षण विरूपण साक्ष्य की सौंपे मूल्य अनिश्चितता होते हैं।
    OFL14

    इस प्रक्रिया ने नेल, ब्रिटेन और एफसीआरआई, भारत में अंशाकित एक 3 इंच एनबी कोरिओलिस भार प्रवाह मीटर की अंशांकन परिणाम की तुलना अनुमति दी गई है। एफसीआरआई पर मीटर पहले और नेल ब्रिटेन में अंशांकन के बाद तेल और पानी मध्यम दोनों में अंशाकित किया गया था। नेल और एफसीआरआई परिणाम के बीच कम से कम ± 0.03% की एक अधिकतम विचलन ही मीटर की पूरी रेंज में मनाया जाता है। पूरी रेंज में एफसीआरआई का परिणाम नेल ब्रिटेन की अनिश्चितता सीमा के भीतर है। परीक्षण और अंशांकन प्रयोगशालाओं (एनएबीएल), भारत के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड की आवश्यकता के अनुसार तुलना की गणना एन मूल्य कम से कम एक होना चाहिए और इस काम एनएबीएल की आवश्यकता के साथ समझौते में है।

    OFL15

    परीक्षण लगभग ग्यारह महीने के अंतराल में आयोजित किए गए। यह इस समय अवधि में एफसीआरआई तेल और पानी के प्रवाह प्रयोगशाला की व्यवस्था के लिए कश्मीर का कारक में भिन्नता प्रयोगशालाओं का दावा किया अनिश्चितताओं (मात्रा से +/- 0.05%) की तुलना में (उच्चतम 0.03% जा रहा है) बहुत कम देखा गया है।

     

    अतः यह सिद्ध हो चुका है कि एफसीआरआई तेल और पानी के प्रवाह प्रयोगशालाएं अंतर्राष्ट्रीय प्रणाली और समय की अवधि में तुलनीय हैं और प्रणाली का पुनःउत्पादन आने वाले समय में और अच्छा होगा।

  •  

    fluidflowtest fluidflowcal